Rajasthan Update
Rajasthan Update - पढ़ें भारत और दुनिया के ताजा हिंदी समाचार, बॉलीवुड, मनोरंजन और खेल जगत के रोचक समाचार. ब्रेकिंग न्यूज़, वीडियो, ऑडियो और फ़ीचर ताज़ा ख़बरें. Read latest News in Hindi.

- Advertisement -

- Advertisement -

राहुल गांधी, के.सी.वेणुगोपाल व अजय माकन भी रंग चुके है अशोक गहलोत के रंग में, गहलोत चाहेगें वही होगा राजस्थान में

- Advertisement -

जयपुर। राहुल गांधी के दो दिवसीय राजस्थान दौरे से राजनीतिक रूप से साफ दिखाई दे रहा है कि राहुल गांधी, के.सी.वेणु गोपाल, अजय माकन सहित दिल्ली से आने वाले कांग्रेसी नेता राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के राजनीतिक रंग में रंग गये है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी,वेणुगोपाल व माकन ने दो दिन के दौरे के दौरान वही किया जो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने निर्धारित करके दिया था और वही देखा जो गहलोत ने दिखाया। चाहे वो वीर तेजाजी का मंदिर हो या श्री गंगानगर का रात्रि विश्राम। अशोक गहलोत ने दो दिवसीय दौरे के कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करके प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा को लागु करने दी गई थी। डोटासरा ने भी गहलोत की रणनीति को एज ईटीज लागु किया।

- Advertisement -

प्रदेशाध्यक्ष व मुख्यमंत्री की रणनीति में दौरे के दौरान साफ दिखाई दिया कि पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, राहुल गांधी के पास पहुंचे ही नही और कही भी स्टेज पर बैठना व भाषण नही दिलवाया जाये परंतु वहां कि स्थानीय राजनीतिक परिस्थितियों के कारण दो सभाओं में बोलने का मौका दिया गया। परंतु राहुल गांधी के साथ विशेष गुप्तगु या मेल मिलाप का मौका कही नही दिया। यही नही राहुल गांधी ने भी सचिन पायलट से मिलने या पास बैठाने या विशेष युवा नेता होने का अहसास नही कराया। राहुल गांधी ने भी सचिन पायलट को वैसा ही राजनीतिक दृष्टि से देखा जैसे वर्तमान में पायलट को अशोक गहलोत देख रहे है।

सचिन पायलट ने भी अपने समर्थकों में जोश बनाये रखने व कांग्रेस के गहलोत विरोधी गुट के नेता होने का अहसास कराने के लिए दो दिवसीय दौरे में पूरे समय साथ रहे, वही किशनगढ़ एयरपोर्ट पर लाईन में लगकर भी राहुल गांधी से मिले यह अलग विषय है कि गांधी ने कोई भी राजनीतिक प्रतिक्रिया नही दी। दो दिवसीय दौरे में सचिन पायलट का पूरे राजनीतिक घटनाक्रम में किसी भी प्रकार की राजनीतिक प्रतिक्रिया व्यक्त नही करना पायलट का धैर्यशील होना है या राजनीतिक मजबूरी है। यह तो पायलट ही जाने परंतु राजनीतिक चर्चा जरूर है।

सचिन पायलट के साथ दो दिवसीय दौरे में राहुल गांधी के व्यवहार को पायलट ने कैसा माना परंतु भाजपाई इस मुद्दे को लेकर सदन के अंदर व बाहर पायलट के प्रति सहानुभुति दिखा रहे है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के राजनीतिक रंग में रंग चुके है गांधी परिवार व राष्ट्रीय कांग्रेसीयों को राज्य की राजनीति में किसी भी प्रकार का हस्तक्षेप नही करने दिया जायेगा। राज्य की राजनीति में वही होगा जो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत करेगें तथा इस कार्य में सबसे अधिक सहयोगी का कार्य प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा करते रहेगें।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.