Rajasthan Update
Rajasthan Update - पढ़ें भारत और दुनिया के ताजा हिंदी समाचार, बॉलीवुड, मनोरंजन और खेल जगत के रोचक समाचार. ब्रेकिंग न्यूज़, वीडियो, ऑडियो और फ़ीचर ताज़ा ख़बरें. Read latest News in Hindi.

खुन जमा देने वाली ठंड के बीच नए साल के स्वागत की तैयारी

-बाजारों सजे तो सर्दी से घरों में दुबके लोग -होट्ल्स,रेस्टोरेंट और पर्यटन स्थल पर रौनक

जयपुर। नया साल आने में महज अब दो दिन शेष है। इस बार जाते साल में सर्दी का सितम जोरों पर है। खुन जमा देने वाली ठंड के बीच नए साल की स्वागत की तैयारियां भी चरम पर है हालांकि सर्दी के कारण बाजरों में रौनक कम है शाम के बाद लोग घरों में दुबकने लगे है। होटल, रेस्टारेंट और पर्यटन स्थलों पर पर्यटकों की रौनक देखने को मिल रही है।
पुलिस पूरी तरह मुस्तैद है। राजधानी में किसी भी आंतकी या अन्य वारदातों को रोकने के  लिए पुलिस के चाक -चौबंद इंतजाम लोगोंको राहत दे रहे है। साल के अंतिम दिन दारू की बजाए दूध से नए साल की शुरूआत कार्यक्रम शहर में जगह-जगह होते दिखेंगे। पूष्पेंद्र भारद्वाज के नेतृत्व मे सांगानेर विधानसभा के सभी वार्डो  में दूध पिलाने का कार्यक्रम
रखा गया है । मुख्य कार्यक्रम सांगानेर के सीटीएस बस स्टैंड, मानसरोवर के
रजत पथ चौराहे पर शाम 6 बजे से रात 11 बजे तक किया जाएगा । भारद्वाज ने बतायाकि प्रत्येक जगह प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी लगभग 1000 लीटर दूध आम जनता को पिलाकर नय वर्ष का स्वागत किया जाएगा। तो विश्वविद्यालय सहित शहर में हर कॉलोनियों में दूध के जरिए नए साल का स्वागत सामाजिक संगठन करेंगे।
रैनबसेरों में उमड़ी भीड़
कड़ाके की सर्दी से बढ़ी रैनबसेरों में भीड़ देखने को मिल रही है।  हड्डिया कपकपा देने वाली कड़ाके की ठण्ड का सितम जारी है हालांकि अभी भी औपचारिकताओं के कारण बड़ी संख्या में सैकड़ों बेघर लोग खुले आकाश के नीचे सोने को मजबूर है।  सभी रैन बसेरों में लोगों को बिना आईडी कार्ड के एट्री नहीं दी जा रही है।ऐसे में कई लोग खुले आसमा के नीचे सोने को मजबूर हैं। राजधानी जयपुर की बात की जाए तो जयपुर नगर निगम की और से कई स्थानों पर रैन बसेरे बनाए गए हैं वहीं पिछले सालों की अपेक्षा इस बार हालात में बेहतर देखने को मिल रहे हैं। रैन बसेरों में जगह नहीं मिलने  कई स्थानों पर लोग अलाब जलाकर हाथ तापते दिखे ये वो लोग हैं जो राजधानी के बाहरी क्षेत्रों से मजदूरी करने के लिए आते हैं हालांकि इनको कई रहने की जगह नहीं मिल पा रही है।
खुले इलाकों में कफ्र्यू जैसे हालात
जयपुर के खुले इलाकों में रविवार शाम को कफ्र्यू जैसे हालात दिखे। सर्दी के कारण सड़क पर राहगीर भी इक्के -दुक्के दिखे तो दुकानें जल्दी बंद कर व्यवसायी भी घर पहुंचे। जयपुर में सालों बाद रिकार्डतोड़ सर्दी के कारण हर कोई बेहाल है।
भगवान भी सर्दी से धूजें
जयपुर के मंदिरों में दिनभर भगवान हीटर, गर्महवाओं और गर्म पकवानों के बीच रखागया ताकि ठाकुर को सर्दी न लग जाए। भक्त भी भगवान को जगह-जगह गर्मपकवान खिला रहे है और पौषबड़ों का दौर चरम पर है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.