Rajasthan Update
Rajasthan Update - पढ़ें भारत और दुनिया के ताजा हिंदी समाचार, बॉलीवुड, मनोरंजन और खेल जगत के रोचक समाचार. ब्रेकिंग न्यूज़, वीडियो, ऑडियो और फ़ीचर ताज़ा ख़बरें. Read latest News in Hindi.

- Advertisement -

- Advertisement -

10 दिसंबर को होने वाले प्रधान के चुनावों को लेकर झुंझुनूं में राजनैतिक कयास जोरों पर

द्वितीय व तृतीय चरण के चुनाव में चार कांग्रेसी व दो भाजपाई प्रधान बनने के बन रहे है आसार

- Advertisement -

  • झुंझुनूं। द्वितीय व तृतीय चरण के पंचायत समिति चुनावों में हाल ही छ: पंचायत समितियों के चुनाव संपन्न हुए है। जिसमें दूसरे चरण में चिडावा, पिलानी, सूरजगढ़ व बुहाना तथा तीसरे चरण में सिंघाना व खेतड़ी में मतदान हुआ है। इन पंचायत समितियों में चार में कांग्रेस व दो में भाजपा के प्रधान बनने की संभावना दिखाई दे रही है। जिसमें पंचायत समिति चिडावा में कांग्रेस का प्रधान अमित ओला को माना जा रहा है। वहीं बुहाना में कांग्रेस का पूर्व प्रधान हरिकिशन या महावीर पाथौली में से किसी एक को पूर्व विधायक श्रवण कुमार प्रधानी पद का आर्शिवाद दे सकते है। दूसरी ओर सिंघाना में पूर्व प्रधान हरपालसिंह के परिजनों में से दो महिला चुनाव मैदान में उतर कर प्रधानी का सपना संजो रहीं है। खेतड़ी में कांग्रेस का प्रधान पद के लिए पूर्व प्रधान बजरंग चारावास या पूर्व विधायक हजारीलाल गुर्जर की दावेदारी प्रबल है। क्योकि भाजपा नेता पूर्व विधायक दाताराम व धर्मपाल गुर्जर की आपसी राजनैतिक द्वेषता के चलते, एक-दूसरे के खिलाफ मत देने की स्थिति बनती दिखाई दे रही है। वहीं पिलानी पंचायत समिति से पूर्व प्रधान कैलाश मेघवाल भाजपा से प्रधान बनने की संभावना है। इस प्रकार सूरजगढ़ में विधायक सुभाष पूनिया के समर्थक बलवानसिंह व भाजपा नेता सोमवीर लांबा में से किसी एक को प्रधान की कुर्सी मिलने की संभावना है।
    राजनैतिक सूत्रों के अनुसार चिडावा पंचायत समिति के 21 वार्डो में से कांग्रेस 13 से 15 व भाजपा आठ से 12 सीट जीतने का दावा कर रही है। लेकिन राजनैतिक प्रबुद्धजनों का मानना है कि कांग्रेस व उनके समर्थक निर्दलीयों सहित कांग्रेस को 13 से अधिक सीट मिल सकती है। वहीं भाजपा 6 से सात सीट पर सिमट सकती है। चर्चा है कि चिडावा पंचायत का प्रधान कांग्रेस का बनाने के लिए पिलानी विधायक जेपी चंदेलिया व झुंझुनूं विधायक बृजेंद्र ओला में राजनैतिक गठबंधन हुआ है। जिसके चलते पिलानी विधायक हाईकमान को कांग्रेस का एक प्रधान बनाना सिद्ध कर पाएंगे। वहीं बृजेंद्र ओला अपने बेटे अमित ओला को राजनीति के प्रथम पायदान पर उतार कर प्रधान बना लेंगे। इसी प्रकार पिलानी पंचायत समिति का प्रथम प्रधान बनने का सपना चिड़ावा पंचायत समिति के पूर्व प्रधान कैलाश मेघवाल पंचायत समिति बनते ही लेने लगे थे। जिसमें माना जा रहा है कि भाजपा का पहला प्रधान कैलाश मेघवाल बन सकते है। पिलानी पंचायत समिति के 19 वार्डो में से कांग्रेस 10 से 12 व भाजपा 12 से 14 व 3 से 4 निर्दलीय की जीत मान रहे है। लेकिन राजनैतिक प्रबुद्धजनों की माने तो यहां भाजपा 9 से 11 सीट जीत सकती है। वहीं कांग्रेस 8 से 10 सीट ही ले पाएंगी। यदि इन सीटों में परिवर्तन होता है तो यहां एक या दो निर्दलीय प्रत्याशी जीत सकते है।
    सूरजगढ़ पंचायत समिति के कुल 17 वार्डो में हुए चुनाव में पूर्व प्रधान शेरसिंह नेहरा का कहना है कि प्रधान तो उन्हीं का बनेगा, चाहे सीट कितनी ही आए। यहां कांग्रेस के समर्थक 9 से 11 सीट अपनी मान रहे है। वहीं भाजपाई 8 से 10 सीटों पर जीत मान रहे है। जबकि भाजपा व कांग्रेस समर्थक एक से दो निर्दलीय की जीत भी मान रहे है। इस प्रकार यहां सूरजगढ़ विधायक सुभाष पूनियां भाजपा का प्रधान बना सकते है। ऐसा राजनैतिक सूत्र मान रहे है। जहां भाजपा को 8 व कांग्रेस के सात व दो निर्दलीय जितने का आंकलन है। यहां भाजपा से सोमवीर लांबा व बलवानसिंह प्रधान पद के उम्मीदवार माने जा रहे है। वहीं कांग्रेस से पूर्व प्रधान शेरसिंह या उनके परिजन को दावेदारी देखी जा रही है। इसी प्रकार बुहाना पंचायत समिति के 17 वार्डो में कांग्रेस आठ से 10, भाजपा 6 से आठ व एक से दो निर्दलीय जीतने की संभावना बता रहे है। लेकिन राजनैतिक प्रबुद्धजनों के अनुसार कांग्रेस 8 से 9, भाजपा 6 से सात व दो निर्दलीय प्रत्याशी जीत सकते है। ऐसी स्थिति कांग्रेस से पूर्व प्रधान हरिकिशनसिंह तथा भाजपा से सुभाष खांदवा व नीता यादव के नाम प्रधान के रूप में माने जा रहे है।
    सिंघाना पंचायत समिति के कुल 17 वार्डो में कांग्रेस आठ से दस, भाजपा पांच से सात व एक से दो निर्दलीयों की जीत मान रहे है। लेकिन राजनैतिक प्रबुद्धजनों के अनुसार कांग्रेस 9 से दस, भाजपा पांच से 6 व एक निर्दलीय की जीत मान रहे है। यहां प्रधान पद के लिए पूर्व प्रधान हरपालसिंह के परिवार से बनना तय माना जा रहा है। यहां भाजपा से प्रधान पद के लिए वर्षा सोमरा व अनिता सैनी के नाम आ रहे है। यदि भाजपा का प्रधान बनता है तो जिलाध्यक्ष पवन मावंडिया की रिश्तेदार अनिता सैनी प्रधान पद की उम्मीदवार हो सकती है।
    इस प्रकार खेतड़ी पंचायत समिति के कुल 29 वार्डो में से कांग्रेस-भाजपा 10 से 12 सीटों के साथ बराबर, बसपा पांच से सात व दो से चार निर्दलीय की जीत मान रहे है। लेकिन राजनैतिक प्रबुद्धजनों के अनुसार यहां कांग्रेस 10 से 13 सीट जीत सकती है। वहीं भाजपा दस से 11, बसपा दो से पांच व दो से तीन निर्दलीय चुनाव जीत सकते है। इस प्रकार खेतड़ी प्रधान निर्दलीयों व बसपा के सहयोग से ही बनता दिखाई दे रहा है। यहां कांग्रेस के बजरंगसिंह चारावास या भाजपा की मनीषा गुर्जर भी पुन: प्रधान बन सकती है। जिले में कांग्रेस पार्टी की टिकट स्थानीय विधायक या विधायक के प्रत्याशी रहे लोगों द्वारा ही बांटी गई है। वहीं यहीं स्थिति भाजपा की है। अब देखना यह है कि आगामी दस दिसंबर को कौन-कौन प्रधान पद पर काबिज होकर पांच साल के लिए सत्ता संभालता है।

 

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.