Rajasthan Update
Best News For rajasthan

चाइल्ड लाइन 1098 से दोस्ती सप्ताह व बाल अधिकार सप्ताह के तहत उदावास राजकीय विद्यालय में आयोजित  की गई चित्रकला व मेहंदी प्रतियोगिता

झुंझुनूं। चाइल्ड लाइन 1098 से दोस्ती सप्ताह व बाल अधिकार सप्ताह के तहत शुक्रवार को राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय उदावास में चाइल्ड लाइन 1098 व बाल अधिकारिता विभाग द्वारा चित्रकला व मेहंदी प्रतियोगिता का आयोजन करवाया गया। प्रतियोगिता का शुभारंभ प्रधानाचार्य राकेश ढ़ाका व चाइल्ड लाइन निदेशक राजन चौधरी द्वारा किया गया। इस अवसर पर स्कूल के विद्यार्थीयों द्वारा बड़े उत्साहपूर्वक भाग लिया गया। चित्रकला व मेहंदी प्रतियोगिता में विद्यार्थीयों द्वारा बेटी बचाओं, बाल अधिकार, बाल संरक्षण, बाल विवाह, बाल श्रम, जल पर्यावरण व स्वच्छता विषय पर चित्र बनाऐं गये। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चाइल्ड निदेशक राजन चौधरी ने बताया कि चाइल्ड लाइन 1098 महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की परियोजना है जो 0 से 18 वर्ष तक के बच्चों के साथ काम करती है। चौधरी ने बताया कि जब भी किसी भी बच्चे को किसी भी प्रकार की समस्या हो या किसी भी बच्चे को आप परेशानी में देखे तो चाइल्ड लाइन 1098 पर अवश्य कॉल करे ताकि प्रशासन के साथ मिलकर बच्चे की मदद की जा सके। उन्होनें बताया कि अभी चाइल्ड लाइन द्वारा चाइल्ड लाइन से दोस्ती सप्ताह का आयोजन व बाल अधिकारिता विभाग द्वारा बाल अधिकार सप्ताह मनाया जा रहा है जिसमें जिले भर में बच्चों के साथ प्रतिदिन अलग-अलग प्रकार की प्रतियोगिता आयोजित की जाऐगी। इस अवसर पर बाल अधिकारिता विभाग के प्रोग्राम ऑफिसर विकास कुमार ने भी बच्चों को संबोधित करते हुए विभाग द्वारा बच्चों के लिए संचालित की जा रही योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए बाल अधिकार सप्ताह के बारे में विस्तार से जानकारी दी। प्रतियोगिता में भाग लेने व प्रथम, द्वितिय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को चाइल्ड लाइन व बाल अधिकारिता विभाग द्वारा ट्राफी, लंच बॉक्स व पेन उपहार के रूप में प्रदान किये गये। इस अवसर पर बाल अधिकारिता विभाग के विकास कुमार, कनिष्ठ सहायक मनोज कुमार, चाइल्ड लाइन कॉर्डिनेटर विकास राहड़, पिरामल फैलो सेानिया सहित समस्त स्कूल स्टाफ उपस्थि रहा। कार्यक्रम के अंत में प्रधानाचार्य राकेश ढ़ाका ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी का आभार प्रकट किया।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More