Rajasthan Update
Rajasthan Update - पढ़ें भारत और दुनिया के ताजा हिंदी समाचार, बॉलीवुड, मनोरंजन और खेल जगत के रोचक समाचार. ब्रेकिंग न्यूज़, वीडियो, ऑडियो और फ़ीचर ताज़ा ख़बरें. Read latest News in Hindi.

- Advertisement -

- Advertisement -

नर्सिंगकर्मी की लोगो की जिंदगियां बचाने की जिद,100 कोरोना पेसेंट की सलामती के लिए नर्सिंग कर्मी ने मांगी बड़े भाई से मदद,

नर्सिंग कर्मी के बड़े भाई ने दिखाई दरियादिली और भेजें 15 ऑक्सीजन सिलेंडर,इस पहल से मरीजों की सांसो को मिला ऑक्सीजन का "बैकअप"

- Advertisement -

कोटपुतली/जयपुर ,15 मई 2021। कोरोना महामारी के चलते जिस प्रकार से पूरे देश में ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए मारामारी चल रही है उससे ऐसा लगता है जैसे मानवता नहीं बची लेकिन जिस प्रकार से बुराई के साथ-साथ अच्छाई भी चलती है उसी का एक जीता जागता उदाहरण जयपुर के कोटपूतली से देखने को मिला है आपको बता दें कि जयपुर ग्रामीण के सबसे बड़े राजकीय बीडीएम जिला चिकित्सालय में कार्यरत नर्सिंग कर्मी रमाकांत यादव ने मदद की एक ऐसी मिसाल पेश की है जो तारीफ के काबिल है

- Advertisement -

                    नर्सिंग कर्मी रमाकांत यादव निरंतर चिकित्सालय में तो अपनी ड्यूटी निभा ही रहे हैं उसके साथ साथ उन्होंने ड्यूटी के दौरान कई दफा ऐसा देखा कि ऑक्सीजन प्लांट में ज्यादा दबाव होने की वजह से वह बंद हो जाता था और खाली सिलेंडर न होने की वजह से मरीजों तक समय पर ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही थी इसके चलते उन्होंने इस बात के बारे में विचार किया और सोचा क्यों ना नौकरी के साथ-साथ जनसेवा भी की जाए और उन्होंने आपबीती अपने बड़े भाई जोकि क्रेशर का कार्य करते हैं क्रेशर बंद होने के कारण वह सिलेंडर वहां काम नहीं आ रहे थे तो उनको राजकीय बीडीएम अस्पताल में भेजने के लिए कहा और उनके भाई ने सहर्ष इसे स्वीकार भी कर लिया की अपने एक छोटे से प्रयास से यदि किसी को सांसे मिलती है तो उससे बड़ा पुण्य का कार्य कुछ भी नहीं हो सकता|

              नर्सिंगकर्मी रमाकांत यादव द्वारा 15 खाली सिलेंडर राजकीय बीडीएम अस्पताल में मंगवाए और उन्हें ऑक्सीजन प्लांट द्वारा भर लिया गया जो जरूरत के अनुसार कोरोना मरीज की जिंदगी बचाने का कार्य कर रहे हैं कई बार ऑक्सीजन प्लांट में ट्रिप हो जाने के कारण ऑक्सीजन सिलेंडर समय पर नहीं भर पाते थे क्योंकि अस्पताल के पास सिलेंडरों की संख्या सीमित थी और मरीजों की संख्या ज्यादा थी इसके चलते नर्सिंग कर्मी द्वारा जब यह मन में ठाना गया तो कोरोना मरीजों की ऑक्सीजन के कारण मौत ना हो इसलिए उन्होंने यह कदम उठाया जिसकी पूरे अस्पताल प्रशासन द्वारा व आमजन द्वारा ऐसे असली कोरोनावरियर्स की तारीफ की जा रही है|

 

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.