Rajasthan Update
Best News For rajasthan

मंड्रेला सीएचसी प्रदेश में अव्वल,  पीएचसी में छावसरी ने मारी बाजी

जिला अस्पतालों की रैंकिंग में बीडीके प्रदेश में तीसरे स्थान पर

झुंझुनूं। मंगलवार का दिन चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के लिए खुशियों भरा रहा क्योंकि भारत सरकार के कायाकल्प कार्यक्रम की स्टेट कमेटी ने वर्ष 2019-20 के परिणाम जारी किये जिसमें जिले की मंड्रेला सीएचसी ने 99.83 अंको के साथ बाजी मारते हुए प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया साथ ही पुरुस्कार स्वरूप 15 लाख रुपये भी जीते। इसी प्रकार जिले के बीडीके अस्पताल को भी प्रदेश में तीसरा स्थान मिला है व तीन लाख रुपये भी जीते। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की श्रेणी में जिले में छावसरी पीएचसी ने पहले स्थान पर बाजी मारकर दो लाख रुपये जीते है। जिला कलेक्टर रवि जैन,सीएमएचओ डॉ छोटेलाल गुर्जर, आरसीएचओ व कायाकल्प के नॉडल अधिकारी डॉ दयानंद सिंह, डिप्टी सीएमएचओ डॉ नरोत्तम जांगिड़, डॉ राजकुमार डांगी सहित सभी उच्चाधिकारियों ने सभी विजेताओं को बधाई दी। मंड्रेला सीएचसी प्रभारी डॉ योगेश जाखड़ व उनकी पूरी टीम प्रदेश में पहले स्थान पर पहुचाने के लिए खूब बधाइयां मिल रही हैं।

जिले की इन 11 सीएचसी को भी मिलेंगे एक एक लाख रुपये के पुरुस्कार
सीएमएचओ डॉ छोटेलाल गुर्जर ने बताया कि जिले की बगड़,बिसाऊ, मलसीसर, चिराना, गुढ़ा गोड़जी, सिंघाना, बुहाना, महनसर, चिड़ावा,पोंख और बबाई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों ने कायाकल्प योजना में बेहतर प्रदर्शन करते हुए 70 प्रतिशत से अधिक अंक हासिल कर एक -एक लाख रुपये पुरुस्कार जीते हैं।

12 पीएचसी को मिलेंगी 50-50 हजार रुपये का प्रोत्साहन राशि
सीएमएचओ ने बताया कि पीएचसी छावसरी के अतिरिक्त पीएचसी इस्लामपुर, पिलानी, पदमपुरा, चनाना, सोलाना, केहर पूरा कला, बसावा, नरहड़, लादूसर, लूणा, पँचलगी और काली पहाड़ी को भी कायाकल्प योजना में 70 फीसदी से अधिक अंक हासिल कर 50-50 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि जीती हैं।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More