Rajasthan Update
Rajasthan Update - पढ़ें भारत और दुनिया के ताजा हिंदी समाचार, बॉलीवुड, मनोरंजन और खेल जगत के रोचक समाचार. ब्रेकिंग न्यूज़, वीडियो, ऑडियो और फ़ीचर ताज़ा ख़बरें. Read latest News in Hindi.

- Advertisement -

- Advertisement -

कोचिगं संचालकों ने कोचिगं नहीं खुलने पर की आन्दोलन की घोषणा

- Advertisement -

जयपुर,11 जुलाई 2021|| कोरोना ग्राफ़ के लगातार कम होने के बावजूद कोचिगं खोलने के आदेश नहीं होने से नाराज़ राजस्थान के कोचिगं संचालकों ,लाइब्रेरी संचालकों ,तथा होस्टल संचालकों ने राज्य सरकार के ख़िलाफ़ आन्दोलन का बिगुल बजा दिया हैं .
ऑल कोचिगं इन्स्टिट्यूट महासंघ के नेत्रत्व मे जयपुर के सागांनेर स्थित पिजरापोल गौशाला में कोचिगं संचालकों ने मीटिगं कर कोचिगं संस्थान ,लाइब्रेरी खोलने की माँग के साथ आन्दोलन का ऐलान कर दिया हैं |ऑल कोचिगं इन्स्टिट्यूट महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष अनीष कुमार ने बताया कि कोचिंग संस्थानों को खोलने के आदेश या राहत पैकेज देने के संबंध में मुख्यमंत्री तथा प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजा जा चुका है

- Advertisement -

राज्य सरकार सभी संस्थानों को खोलने के आदेश दे रही है लेकिन कोचिंग तथा लाइब्रेरी संस्थानों को खोलने के आदेश नहीं दिए हैं जिस कारण इन संस्थानों में कार्य करने वाले संचालक ,शिक्षक तथा अन्य कर्मचारी विकट परिस्थिति का सामना कर रहे हैं है यह व्यवसाय शिक्षा से जुड़े होने के कारण इस व्यवसाय को करने वाले अपनी परिस्थिति का ज़िक्र भी सामाजिक रूप से नहीं कर पा रहे हैं यह उन्हें मानसिक रूप से आत्महत्या की ओर धकेल रहा है | शीघ्र ही कोचिंग संचालक तथा लाइब्रेरी संचालक मुख्यमंत्री आवास का घेराव करेंगे तथा मुख्यमंत्री से कोरोना महामारी के ग्राफ के इस स्तर पर स्थाई बने रहने तक कोरोना गाइडलाइन की पालना के साथ संस्थानों को खोलने की अनुमति देने की माँग करेंगे |

ऑल कोचिंग इंस्टीट्यूट महासंघ के प्रदेश संगठन मंत्री संजय चौधरी ने बताया कि जयपुर में इस आंदोलन को सफल बनाने के लिए गोपालपुरा बायपास,रामगढ़ मोड़ आमेर रोड,सांगानेर में श्योपुर रोड पर स्थित कोचिंग संचालकों का समर्थन प्राप्त कर लिया गया है झोटवाडा तथा जगतपुरा प्रताप नगर के कोचिंग संचालक भी मुख्यमंत्री आवास के घेराव करने के इस कार्यक्रम में शामिल होंगे | कोचिंग संचालकों का कहना है कि कोचिगों में आने वाले बच्चे प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले बच्चे हैं वे 18 वर्ष उम्र से ऊपर के बच्चे हैं अतः ऐसे बच्चे जिन्होंने वेक्सीन की प्रथम डोज़ लगवा लिया है उन्हें कोचिंग में आने की अनुमति देनी चाहिए|

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.