Rajasthan Update
Best News For rajasthan

जिला कलक्टर संदेश नायक ने अंधड़ से हुए नुकसान का लिया जायजा

जिला कलक्टर श्री संदेश नायक ने सरदारशहर व तारानगर क्षेत्रा के गांवों में जाकर गत दिवस आए अंधड़ से हुए फसलों के नुकसान का जायजा लिया और पीड़ित किसानों से बातचीत की। जिले में आए…

चूरू। जिला कलक्टर श्री संदेश नायक ने सरदारशहर व तारानगर क्षेत्रा के गांवों में जाकर गत दिवस आए अंधड़ से हुए फसलों के नुकसान का जायजा लिया और पीड़ित किसानों से बातचीत की। जिले में आए अंधड़ से हुए फसलों के नुकसान की सूचना पर संवेदनशीलता दिखाते हुए जिला कलक्टर श्री संदेश नायक सोमवार सवेेरे सबसे पहले तारानगर क्षेत्रा के गांवों में पहुंचे और यहां मौके पर जाकर नुकसान का जायजा लिया। तारानगर क्षेत्रा में उन्होंने खरतवास, लूणास, रैयाटुंडा गांवों के किसानों से बातचीत की और उनके खेतों में नुकसान का मुआयना किया। किसानों ने बताया कि काटकर रखी गई चने, सरसों की फसल में इस अंधड़ सेे ज्यादा नुकसान हुआ है और तैयार फसल अंधड़ के कारण नष्ट हो गई है। इस दौरान जिला कलक्टर ने किसानों को बताया कि वे 72 घंटों मंें बीमा कंपनी के टोल फ्री नंबर पर काॅल करके अपने नुकसान की रिपोर्ट करें और अपना पंजीयन करा लें ताकि नियमानुसार उन्हें बीमा क्लेम मिल सके। उन्होंने कहा कि अंधड़ के कारण कुछ किसानों को नुकसान हुआ है और संकट की इस घड़ी में प्रशासन पूरी संवेदनशीलता से पीड़ित किसानों के साथ है।

 

इसके बाद जिला कलक्टर ने सरदारशहर क्षेत्रा के गांव नैयासर, उडसर लाडेरा, उडसर भेभरा आदि गांवों में मौका मुआयना किया। इस दौरान तारानगर तहसीलदार तेजपाल गोठवाल, सरदारशहर तहसीलदार बृजेश मंगल सहित संबंधित गिरदावर, पटवारी एवं संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे। जिला कलक्टर ने बताया कि प्रभावित क्षेत्रों में गिरदावर व पटवारियों की टीम को भेजा गया है तथा नुकसान के आकलन व किसानों में बीमा कंपनी के टोल फ्री नंबर का प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए गए हैं ताकि किसान अपने नुकसान की सूचना निर्धारित समय में भेज सके।
जिला कलक्टर ने किसानों से अनुरोध किया है कि आंधी की वजह से जो नुकसान हुआ है, उसकी रिपोर्ट एसबीआई जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के टोल फ्री नंबर पर दर्ज कराएं। कंपनी के टोल फ्री नंबर 0141 2545227 पर नुकसान की सूचना दर्ज कराएं। इसके लिए कंपनी के प्रतिनिधि कृष्ण कुमार के मोबाइल नंबर  8696943687 पर भी संपर्क किया जा सकता है। किसान अपने केसीसी अकाउंट नंबर, फार्मर आईडी, फसल का नाम, नुकसान होने का समय, बैंक डिटेल आदि जानकारी फोन पर दें तथा  तथा बाद में संबंधित बैंक में इसके लिए लिखित मंें  सूचना दें।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More