Rajasthan Update
Best News For rajasthan

सभी का विश्वास जीतने की दिशा में मोदी के बढ़ते कदम! 

स्वतंत्र पत्रकार

-डाॅ. भरत मिश्र प्राची

      लोकसभा आम चुनाव 2019 से पूर्व जम्मू कश्मीर क्षेत्र में पुलवामा आतंकी हमले के उपरान्त पाक के आतंकी क्षेत्र बालाकोट में तत्कालीन केन्द्र की मोदी सरकार के तहत हुई एयरस्ट्राइक का भारतीय जनमानस पर ऐसा प्रभाव पड़ा जिसने आमचुनाव 2019 की पूरी तस्वीर ही बदल डाली । इस परिवेश ने देश के युवा से लेकर बुजुर्ग नागरिक के मन में राष्ट्रवाद की भावना इस तरह भर दी जिसनें आमचुनाव में नरेन्द्र मोदी का सिर सर्वोपरि कर दिया। इस आम चुनाव के बाद नरेन्द्र मोदी के अन्दर एक नई ताकत एवं जोश का संचार होता नजर आ रहा है जिसके सहारे वे आजतक के भारतीय राजनीति में लोकप्रियता को लेकर  शिखर पर पहुंचे राजनेताओं से भी सर्वोपरि शिखर पर पहुंच जाना चाहते है। इस दिशा में उनके एक – एक कदम बढ़ते नजर आ रहे है। 

     आजतक भारतीय जनमानस में देश के सर्वाधिक मुस्लिम मतदाता राजनीतिक दल भाजपा से दूरी बनाकर चलते रहे जिसे अपनी ओर आकर्षित करने का प्रथम प्रयास नरेन्द्र मोदी ने अपने शासन के प्रथम कार्यकाल में  मुस्लिम समुदाय में सदियों से चल रहे संवेदनशील पहलू तीन तलाक के मसले को जड़ से मिटाने की दिशा में स्थाई कानून बनाने की वकालत शुरू कर की जिसे राज्य सभा में परित नहीं हो पाने के कारण कानून का रूप तो नहीं मिल सका पर इस नियम के चलते मुस्लिम समुदाय के प्रभावित जनसमुदाय का आमचुनाव में भाजपा को राजनीतिक लाभ अवश्य मिला। इस दिशा में नरेन्द्र मोदी को सफलता मिली । इस सफलता ने नरेन्द्र मोदी के मन में आजतक कटे इस वर्ग को अपनी ओर आकर्षित करने की दिशा में एक नई पहल करने की ओर प्रेरित किया जिसे अमल लाने की दिशा में आमचुनाव 2019 के बाद दूसरी बार केन्द्र सत्ता संभालते ही इस समुदाय में अल्पसंख्यक वर्ग के छात्रों को छात्रवृृति की योजना के साथ एक हाथ में कुरान तो दूसरे हाथ में कम्पयूटर होने का संदेश देकर अनोखी पहल की जिसका आने वाले समय में इस वर्ग से सर्वाधिक समर्थन मिलने की उम्मीद बनती जा रही है। इस दिशा में फिर से नरेन्द्र मोदी के दूसरे शासन काल में तीन तलाक का मुदृदा जिसे कानूनी दर्जा दिये जाने का भरपूर प्रयास रामबाण साबित हो सकता है। निश्चित तौर पर इसे मोदी  का राजनीतिक चातुर्य माना जायेगा। इस तरह नरेन्द्र मोदी आजतक राजनीतिक क्षेत्र में अपने दल से सदा – सदा से दूरी बनाकर चलने वाले इस समुदाय का विश्वास जीतने में सफल होते नजर आ रहे है। देश के सर्वाधिक हिन्दू जनसमुदाय का जनमत तो पहले से ही भाजपा के साथ जुड़ा हुआ है, इस कड़ी में आजतक कटे देश के इस अल्पसंख्यक वर्ग का भी साथ मिल जाय तो सोने में सुहागा ही होगा। 

अपने शासन के दूसरे कार्यकाल में नरेन्द्र मोदी देश के सशक्त वर्ग किसानों को भी राहत पहुंचाकर अपनी ओर आकर्षित करने के भरपूर प्रयास करते नजर आ रहे है। इस दिशा में किसानोे को राहत राशि के साथ – साथ फसलों के समर्थन मूल्य बढ़ाये जाने की भी प्रक्रिया अपनाई जा रही है। सरकार के इस कार्यशैली से यदि देश के किसान मुनाफाखोरों एवं बाजार के बिचैलिये के चंगुल से बाहर निकल पाते है तो इसका राजनीतिक लाभ निश्चित रूप से मोदी सरकार को मिलता नजर आ रहा है। किसानों के साथ – साथ नरेन्द्र मोदी अपने  शासन के दूसरे कार्यकाल के दौरान देश के छोटे व्यापारियों को भी पेंशन की सुविधा देकर पहली बार इस वर्ग को खुश करने का प्रयास किया है जब कि व्यापारी वर्ग पहले से ही भाजपा का पक्षधर माना जाता रहा है । अपने शासन के दूसरे कार्यकाल में जीएसटी की दरें कम करने की बात कर इससे असंतुष्ठ छोटे व्यापारी  वर्ग को भी अपने पक्ष में करने का मोदी सरकार का प्रयास अनोखा है। 

 नरेन्द्र मोदी अपने शासन के दूसरे कार्यकाल को अपनी सशक्त विदेश नीति के माध्यम से देश की आवाम को अपनी ओर आकर्षित करने का भरपूर प्रयास करते नजर आ रहे है। जहां वे देश की आवाम को ये संदेश देने में सफल भूमिका अदा करते नजर आ रहे है कि मोदी के लिये सबसे पहले देश प्रेम एवं आवाम की सुरक्षा का प्रश्न महत्वपूर्ण हे। जिसके लिये अभी हाल ही में किगिंस्तान में हुये शंघई कारपोरेशन आॅर्गनाइजेन समिट के दौरन आतंकवाद को जड़ से मिटाने की दिशा में अपनी बात करते हुये पाक के प्रधानमंत्री इमरान खान को इस मसले को दूर करने के बाद ही आगे बातचीत बढ़ाने पर विचार किये जाने की बात कर देश के प्रति अपनी आस्था को उजागर किया । अपने राजनीतिक गुरू आज के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह को गुहमत्रालय की बागडोर संभलाकर प्रशासन की डोर को मजबूत कर आमजन का विश्वास जीतने का प्रयास नरेन्द्र मोदी केी राजनीतिक पहल है। अपने शासन के दूसरे कार्यकाल की बागडोर संभालते ही नरेन्द्र मोदी ने अपने मंत्रिमंडल के साथियों को घर से मंत्रालय का काम न कर समय पर मंत्रालय पहुंचकर अधिक से अधिक फाईल निबटाने का संदेश देकर एक बेहतर नेतृृत्व की छवि आमजन में बनाने का भी प्रयास किया है। इस तरह की पहल निश्चित तौर पर लोकतंत्र की बिगड़ती काया को सुधारने की दिशा में बेहतर परिणाम दे सकती है। कुशल प्रशासक नीति के तहत यह प्रयास निश्चित तौर पर देशहित में साबित हो सकता है।

    इस तरह नरेन्द्र मोदी अपने शासन के दूसरे कार्यकाल में देश के हर वर्ग को संतुष्ट करने का भरपूर प्रयास कर सभी का विश्वास जीतने की दिशा में साहसिक कदम बढ़ाते जा रहे है। आनेवाला समय ही इस दिशा में तय करेगा कि नरेन्द्र मोदी के ये कदम आमजन का विश्वास जीतने में कितना सफल हो पाते है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More