Rajasthan Update
Best News For rajasthan

गहलोत सरकार का ​किसानों की ऋण माफी का ऐलान…सहकारी बैंकों व राष्ट्रीयकृत बैंकों में किसानों के 2 लाख तक के कर्जे माफ

जयपुर 19 दिसम्बर । चुनावी जनसभा में किए गए कांग्रेस को वादे को सरकार ने पूरा करने की घोषणा कर दी है सरकार बनने के तीन दिन बाद ही अशोक गहलोत सरकार ने प्रदेश के किसानों को बड़ी राहत देते हुए ऋण माफी का ऐलान कर दिया है। गहलोत सरकार ने अपना वादा निभाते हुए 30 नवंबर 2018 तक के शेड्यूल्ड वाणिज्यिक,राष्ट्रीयकृत और ग्रामीण बैंकों से कर्ज लेने वाले डिफाल्टर किसानों के दो लाख तक के ऋण माफ कर दिए हैं साथ ही सहकारिता बैंकों के तमाम कर्ज को माफ करने की मुख्यमंत्री ने घोषणा कर दी है। मिडिया से रूबरू होते हुए अशोक गहलोत ने कहां कि इसका आदेश भी जारी कर दिया गया है। अब मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के साथ राजस्थान भी किसान कर्ज माफी करने वाला राज्य बन गया है।
सीएमओ में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वित्त विभाग के प्रमुख सचिव निरंजन आर्य सीएम के प्रमुख सचिव कुलदीप रांका सहकारिता विभाग के प्रमुख सचिव अभय कुमार और रजिस्ट्रार नीरज के पवन के साथ उच्चस्तरीय बैठक की बैठक के बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए बड़ी घोषणा की है।

किसानों की ऋण माफी को लेकर तस्वीर साफ क्या—क्या कहां है गहलोत ने:—
सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि अभी मैंने तमाम अधिकारियों से बातचीत की वित्त व कॉपरेटिव अधिकारियों के साथ बातचीत की हैै। उन्होनें कहां कि राहुल गांधी ने जो वादा राजस्थान की जनता से किया था कि सरकान बनी तो 10 दिन में ऋण माफ करने का था वादा वो हमने निभाया।

गहलोत ने कहां कि मैंने आज ही आदेश निकाले कि तमाम जो कोऑपरेटिव बैंक के लोन हैं वे होंगे माफ।

पिछली सरकार ने जो वादा खिलाफी की है सिर्फ दो हजार करोड़ पैसा दिया है जबकि 8000 करोड़ का भार आने वाला था ऐसे में 6000 करोड़ का भार हमारे ऊपर आया है।

हमने फैसला किया है कि हम सहकारी बैंकों के समस्त ऋण माफ करेंगे,साथ ही नेशनल ग्रामीण या अन्य बैंक उनमें जो किसानों का ऋण है जिसकी वजह से किसान आत्महत्या कर रहे हैं। उनमें पात्र किसानों को और जो डिफाल्टर हैं उनके लिए दो लाख तक का कर्जा माफ किया है।

गहलोत ने कहा कि कमर्शियल बैंकों का भी होगा कर्ज माफ।

30 नवंबर 2018 तक जो होंगे डिफाल्टर उन तमाम किसानों के दो लाख तक के कर्जे होंगे माफ।

कोऑपरेटिव बैंकों का सभी तरह का शॉर्ट टर्म कर्जा होगा माफ करीब 18000 करोड का पड़ेगा भार।

अल्पकालीन फसली ऋणों को किया माफ।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More