स्कूल में पढने वाले बच्चों ने की थी उदावास में चोरी

चार छात्रों को किया निरुद्ध, वारदात कबूली, चोरी का सामान बरामद
झुंझुनूं। उदावास की सरकारी स्कूल में चोरी का राजफाश सदर पुलिस ने 24 घंटे बीतने से भी पहले पहले कर दिया।जांच अधिकारी एएसआई रघुवीरसिंह ने बताया कि इस मामले में स्कूल प्रिंसीपल राकेश ढाका ने मामला दर्ज करवाया था। अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला दर्ज करवाने के बाद पुलिस ने जांच शुरू की तो सबसे पहले शक की सुई स्कूली छात्रों पर ही गई।पूछताछ में सामने आया कि स्कूल में पढऩे वाले कुछ छात्र इस वारदात को अंजाम दे सकते है। जिनके बारे में जानकारी जुटाई गई तो चार छात्रों के नाम सामने आए। जो इसी स्कूल के छात्र है।इन छात्रों से जब पुलिस ने पूछताछकी तो उन्होंने चोरी की वारदात करना कबूल लिया।चारों के चारों नाबालिग है।जिन्होंने बताया कि शनिवार की रात ही बैठे बैठे उनके दिमाग में आया और उन्होंने चोरी की वारदात कर डाली।उन्हें स्कूल के सीसीटीवी कैमरों के बारे में भी पता था।इसलिए उन्होंने पीछे के दरवाजे से प्रवेश किया और उन्हीं कमरों में चोरी की वारदात की।जहां पर सामान पड़ा था। चारों ने सामान चुराकर गांव के ही एक सूने नोहरे में डाल दिया।जिसे भी पुलिस ने बरामद कर लिया है।अक्षय पात्र की नगदी को चारों ने खर्चकर दिया।
खाली बोतल लाकर डाली:
मामले की शक की सुईकिसी शातिर चोर पर जाए।इसलिए चारों बच्चों ने बाहर से शराब की खाली बोतल लाकर कमरे में डाल दी।इसके अलावा तोडफ़ोड़ करने का भी कोई इरादा नहीं था।कांच पेपर वेट गिरने से टूट गया।
पहले भी कर चुके है छोटी-मोटी चोरियां:
सूत्रों की मानें तो इनमें से एक-दो बच्चों ने पहले भी गांव में छोटी-मोटी चोरियां की है।जिसके कारण इन पर पहले से ही शक की सुई चली गई थी।लेकिन पूर्व में की गईचोरियों को गांव के लोगों ने अपने स्तर पर ही निपटा दिया था।
पहले भी कर चुके है छोटी-मोटी चोरियांस्कूल में पढने वाले बच्चों ने की थी उदावास में चोरी