ममता बनर्जी ने कहा शाह क्या भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता, विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने के खिलाफ आज निकलेगी विरोध रैली

कोलकाता। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के कोलकाता में हुए रोड शो के दौरान मंगलवार को बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस समर्थकों के बीच हिंसक झड़पें हुईं। इस दौरान आगजनी भी की गई। इस हिंसा में कई लोगों के घायल होने की खबरें हैं। हालांकि हिंसा में अमित शाह को कोई चोट नहीं आई और पुलिस उन्हें सुरक्षित स्थान पर ले गई। हिंसा के बाद अब दोनों पार्टियां एक दूसरे पर आरोप लगा रही हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हिंसा की जगह पहुंचकर घायल छात्रों से मुलाकात की। ममता के साथ मौजूद कोलकाता पुलिस कमिश्नर डॉक्टर राजेश ने कहा कि हिंसा में शामिल 100 लोगों को हिरासत में लिया गया है। किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

 

 

भाजपाध्यक्ष अमित शाह ने एक टीवी चैनल से कहा, “टीएमसी के गुंडों ने मुझ पर हमला करने की कोशिश की। ममता बनर्जी ने हिंसा भड़काने का प्रयास किया। लेकिन मैं सुरक्षित हूं।.” अमित शाह ने कहा कि झड़पें होने के दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी रही। उन्होंने कहा कि पुलिस ने उन्हें बताया था कि रोडशो की इजाजत कॉलेज के पास समाप्त होती है और उन्हें स्वामी विवेकानंद के बिधान सारणी स्थित पैतृक आवास पर ले जाया जाएगा। शाह ने दावा किया, “वे (पुलिस) नियोजित मार्ग से हट गए और उस रास्ते पर ले गए जहां ट्रैफिक जाम था।

 

 

वहीं, ममता बनर्जी ने शाह के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए शाह को “गुंडा” बताया। उन्होंने शहर के बेहाला की रैली में कहा, “अगर आप विद्यासागर तक हाथ ले जाते हैं तो मैं आपको गुंडे के अलावा क्या कहूंगी।” उन्होंने कहा, “मुझे आपकी विचारधारा से घृणा है, मुझे आपके तरीकों से नफरत है।” साथ ही उन्होंने विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़े जाने के खिलाफ गुरुवार को एक विरोध रैली की घोषणा की।  ममता बनर्जी ने उत्तर कोलकाता स्थित विद्यासागर कॉलेज का दौरा करने के बाद कहा, ‘‘अमित शाह खुद को क्या समझते हैं? क्या वह सबसे ऊपर हैं? क्या वह भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता?’’ उन्होंने कहा, ‘‘वे इतने असभ्य हैं कि उन्होंने विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़ दी। वे सभी बाहरी लोग हैं। बीजेपी मतदान वाले दिन के लिए उन्हें यहां लाई है।’’

 

 

कॉलेज के प्रधानाचार्य ने भी लगाए भाजपा पर आरोप
विद्यासागर कॉलेज के प्रधानाचार्य गौतम कुंडु ने कहा, “ बीजेपी समर्थक पार्टी का झंडा लिये हमारे दफ्तर के अंदर घुस आए और हमारे साथ बदसलूकी करने लगे। उन्होंने कागज फाड़ दिया, कार्यालय और संघ के कक्षों में तोड़फोड़ की और जाते वक्त विद्यासागर की आदम कद प्रतिमा तोड़ दी। उन्होंने दरवाजे बंद कर दिये और मोटरसाइकलों को आग के हवाले कर दिया।” उन्होंने कहा कि बीजेपी समर्थकों ने कुछ छात्रों को चोटिल कर दिया। टीएमसी महासचिव और राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा कि उसके समर्थक दिखा रहे हैं कि भगवा पार्टी बंगाल की संस्कृति का कोई सम्मान नहीं करती।

AMIT SHAHbjpHindi newsKolkataLok Sabha Election 2019Mamata banerjeeroadshowTMC